भारत के प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी

0
189

लाला लाजपत राय

इनसे जुड़े तथ्य
  1. पंजाब केसरी अथवा पंजाब के शेर के नाम से लोकप्रिय, वे एक वकील और एक स्वतंत्रता सेनानी थे ।
  2. 1889 में कांग्रेस के बम्बई सत्र में, उन्हें अन्य दो प्रमुख स्वतंत्रता सेनानियों बिपिन चंद्र पाल और बाल गंगाधर तिलक के साथ जोड़ा गया था। तीनों लाल-बाल-पाल के नाम से लोकप्रिय हैं ।
  3. वे बिपिन चंद्र पाल और लोकमान्य तिलक सहित स्वदेशी आंदोलन के अग्रदूतों में से एक थे।
  4. वे भारत के स्वतंत्रता संग्राम को बढ़ावा देने के लिए अमरिका गए, जहाँ उन्होंने इंडिया होम लीग सोसाइटी ऑफ़ अमेरिका की स्थापना की, जिसने यंग इंडिया नामक एक मासिक पत्रिका प्रकाशित की।
  5. 1920 में उन्होने जलियांवाला बाग हत्याकांड और असहयोग आंदोलन के विरोध में कांग्रेस इंडिपेंडेंस पार्टी की स्थापना की ।
  6. उनके प्रयासों से 1895 में पंजाब नेशनल बैंक का गठन हुआ ।
  7. 1920 में गठित ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस के वे पहले अध्यक्ष थे ।
  8. उन्होंने सर्वेंट्स ऑफ पीपुल सोसाइटी की स्थापना की, जिसने स्वतंत्रता आंदोलन के साथ-साथ देश में सामाजिक सुधार के लिए भी काम किया।
  9. साइमन कमीशन की यात्रा के खिलाफ विरोध के दौरान उन पर लाठियां पड़ी थी तो उन्होने कहा था कि मुझ पर किया गया हर वार ब्रिटिश साम्राज्यवाद के ताबूत पर एक कील है ।
  10. 1928 में लाला लाजपत राय की मृत्यु लाठियों की चोट के कारण हुई थी ।

 

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद

इनसे जुड़े तथ्य
  1. वे अरबी, अंग्रेजी, उर्दू, हिंदी, फारसी और बंगाली के प्रसिद्ध विद्वान थे ।
  2. उन्होंने धर्म और जीवन के बारे में संकीर्ण दृष्टिकोण से अपनी मानसिक मुक्ति के निशान के तौर पर उपनाम ‘आज़ाद’ अपनाया ।
  3. उन्होने मुसलमानों में क्रांतिकारी रंगरूटों को बढ़ाने के लिए एक साप्ताहिक पत्रिका अल हिलाल का प्रारम्भ किया।
  4. मौलाना अबुल कलाम आज़ाद को 1992 में मरणोपरांत भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, भारत रत्न से सम्मानित किया गया।
  5. उन्हें 1923 में कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में चुना गया था, जिससे वे यह पद संभालने वाले सबसे युवा व्यक्ति बने । 1940 में उन्हें फिर से अध्यक्ष चुना गया ।
  6. वे स्वतंत्र भारत के पहले शिक्षा मंत्री बने।
  7. मौलाना अबुल कलाम आज़ाद का जन्म 11 नवंबर, 1888 को मक्का में हुआ था ।
  8. मौलाना आजाद बंगाल के दो प्रमुख क्रांतिकारी अरबिंदो घोष और श्री श्याम शुंदर चक्रवर्ती से मिलने के उपरांत ब्रिटिश शासन के खिलाफ क्रांतिकारी आंदोलन में शामिल हुए ।
  9. उन्होंने पूरे उत्तर भारत और बम्बई में गुप्त क्रांतिकारी केंद्रों की स्थापना में मदद की।
  10. वे 1931 के धरसाना सत्याग्रह के मुख्य आयोजकों में से एक थे, जो धरसाना साल्ट वर्क्स पर एक अहिंसक छापा था ।
  11. वे 1920 में संघटित जामिया मिल्लिया इस्लामिया की फाउंडेशन कमेटी के सदस्य थे ।
  12. उन्होने इंडिया विंस फ्रीडम नामक लिखी थी ।

 

मोतीलाल नेहरु

इनसे जुड़े तथ्य
  1. जवाहरलाल नेहरू के पिता, वे देश के सर्वश्रेष्ठ वकीलों में से एक थे ।
  2. वह दो बार कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुने गए थे।
  3. उन्होंने चित्तरंजन दास के साथ स्वराज पार्टी का गठन किया ।
  4. 1923 में, वे नई दिल्ली में ब्रिटिश भारत के नए केंद्रीय विधान सभा के लिए चुने गए और विपक्ष के नेता बने ।
  5. वह ऑल पार्टीस कॉन्फेरंस के अध्यक्ष थे, जिसने नेहरू रिपोर्ट , प्रस्तुत की जिसमें भारत के पूर्ण प्रभुत्व की सिफारिश की गई थी ।
  6. उन्होंने 1919 में दैनिक अखबार इंडिपेंडेंट की शुरुआत की ।

 

मदन मोहन मालवीय

इनसे जुड़े तथ्य
  1. अक्सर महामना के नाम से संबोधित, वे एक शिक्षाविद्, वकील और स्वतंत्रता सेनानी थे ।
  2. उन्होंने 1916 में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना की |
  3. उन्होंने प्रथम गोलमेज सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व किया |
  4. उन्होंने इलाहाबाद से प्रकाशित द लीडर अखबार की स्थापना की |
  5. उन्होंने अलग-अलग समय पर साप्ताहिक हिंदुस्तान और दैनिक द इंडियन यूनियन का संपादन किया।
  6. उन्हें चार बार भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अध्यक्ष चुना गया – 1909, 1918, 1932 और 1933 ।
  7. 2014 में उन्हें मरणोपरांत भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, भारत रत्न से सम्मानित किया गया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here