प्रकाश के बारे में मुख्य तथ्य

0
108
तथ्य
निर्वात में प्रकाश की गति 186,000 मील प्रति सेकेंड यानि 300,000,000 मीटर प्रति सेकेंड होती है ।
पानी, कांच और हवा जैसे पारदर्शी माध्यमों में प्रकाश की गति धीमी होती है तथा माध्यम के अपवर्तनांक पर निर्भर करती है ।
प्रकाश विद्युत-चुम्बकीय स्पेक्ट्रम का दृष्टिगोचर भाग है और प्रकाश की आवृत्ति 4 x 1014 हर्ट्ज़ से 8 x 1014 हर्ट्ज़के बीच होती है ।
बैंगनी रंग की तरंगों का तरंगदैर्ध्य सबसे छोटा होता है ( लगभग 400 नैनोमीटर)।
लाल रंग की तरंगों का तरंगदैर्ध्य सबसे लम्बा होता है ( लगभग 650 नैनोमीटर)।
प्रकाश के गुणों और व्यवहार के अध्ययन को ऑप्टिक्स कहा जाता है ।
सूर्य के प्रकाश को पृथ्वी तक पहुंचने में 8 मिनट और 20 सेकंड लगते हैं ।
पृथ्वी से चंद्रमा तक की दूरी तय करने में प्रकाश को 1.3 सेकंड लगते हैं ।
प्रकाश के व्यतिकरण के उपयोग से तीन आयामी इमेजिंग को होलोग्राफी कहते हैं ।
सर्जरी, प्रिंटर आदि में प्रयुक्त प्रकाश उत्तेजना की प्रणाली को LASER कहते हैं ।
प्रकाश संश्लेषण के लिए सबसे अनुकूल प्रकाश का रंग नीला होता है ।

 

प्रकाश की परिघटनाएँ तथा उनके दृष्टिगोचर प्रभाव

परिघटना दृष्टीगोचर प्रभाव
प्रकाश का अपवर्तन
  • दिन का लम्बा होना
  • सितारों का टिमटिमाना
  • मृगतृष्णा (Mirages) का नज़र आना
  • क्षितिज पर सूर्य या चंद्रमा का आकार में बड़ा दिखाई देना ।
  • पानी में डूबी छड़ी का वायु तथा पानी के अंतरपृष्ठ पर मुड़ा हुआ दिखाई देना ।
  • पानी के अंदर खड़े आदमी का कद में छोटा दिखाई देना ।
प्रकाश की विक्षेपण इंद्रधनुष का बनना
प्रकाश का व्यतिकरण साबुन के बुलबुलो और पानी पर तेल की परत में सुंदर रंगों का देखा जाना
छोटी तरंग दैर्ध्य की प्रकाश किरणों का बिखराव आकाश का नीला दिखाई देना ।
सुर्योदय तथा सुर्यास्त के समय सुर्य का लाल दिखाई देना ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here